24वां स्थापना दिवस का आयोजन 20-10-2017

20 अक्टूबर, 2017, सरसों अनुसंधान निदेषालय का 24वां स्थापना दिवस बड़े उल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर बोलते हुए निदेशालय के निदेशक डा. पी.के. राय ने बताया कि आज ही के दिन 1993 में भारतीय कृशि अनुसंधान परिषद ने राजस्थान एवं भरतपुर संभाग में सरसों फसल के क्षेत्रफल को ध्यान में रखते हुए भरतपुर में सरसों अनुसंधान केन्द्र की स्थापना की थी। कालांतर में अनुसंधान केन्द्र की गतिविधियों एवं उपलब्धियों को देखते हुए फरवरी 2009 में केन्द्र को निदेशालय का दर्जा दिया गया। उन्होने बताया कि वर्तमान में निदेशालय देश में स्थित अपने 24 केन्द्रों के माध्यम से राई-सरसों अनुसंधान एवं विकास कार्य में अपना योगदान दे रहा है। जलवायु परिवर्तन को ध्यान में रखते हुए निदेशालय अधिक तापमान सहन करने वाली रोग रोधी एवं अधिक उत्पादकता वाली किस्मों के विकास पर कार्य कर रहा है। डाॅ. राय ने बताया कि इस रजत जंयती वर्श में निदेशालय द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा, जिससे राई-सरसों अनुसंधान एवं विकास कार्यो को और अधिक गति प्रदान किया जा सके तथा क्षेत्र एवं प्रदेश के सरसों उत्पादक किसानों को ज्यादा से ज्यादा लाभ हो सके। इसी क्रम में निदेशालय में 25-27 नवम्बर, 2017 तक भारतीय कृषि सांख्यिकी सोसायटी के वार्षिक सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा जिसमें देश भर के लगभग 150 कृषि सांख्यिकी विद्धान भाग लेंगे। स्थापना दिवस के अवसर पर परिसर में वृक्षारोपण कार्यक्रम भी आयोजित किया गयाै ।